Top News

मैं एक मोटर मैकेनिक होता - अनूप कुमार | I would have been a motor mechanic - Anup Kumar

Responsive Ad Here

कबड्डी विश्व में अनूप कुमार (Anup Kumar) एक बहुत बड़ा नाम हैं। 2016 के कबड्डी विश्वकप में विजेता रहीं भारतिय टीम के कप्तान अनूप कुमार थे। लेकिन अगर अनूप कुमार एक कबड्डी खिलाड़ी ना होते तो वे क्या होते। इस सवाल का जवाब खुद अनूप कुमार ने प्रो कबड्डी के "बियोंड द मैट" इंस्टाग्राम के लाइव सेशन में दिया।

जब अनूप कुमार से पूछा गया कि अगर वे एक कबड्डी खिलाड़ी ना होते तो क्या होते तो उन्होंने कहा कि "अगर में कबड्डी खिलाड़ी ना होता तो मैं एक मोटर मैकेनिक होता।"

अनूप कुमार ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत 2010 के एशियाई खेलों से की थी। वहां भारतीय टीम ने गोल्ड मेडल जीता था। प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) में अनुप कुमार ने 2014 से 2108 तक छें संस्करण खेलें।

दिसंबर 2018 में अनूप कुमार ने कबड्डी से संन्यास लिया। 2019 में वे वापस कबड्डी के तरफ लौटे लेकिन इस बार वे खिलाड़ी बनके नहीं बल्कि कोच के भूमिका में नजर आए। 2019 के प्रो कबड्डी लीग के सातवें संस्करण में अनूप कुमार ने पुनेरी पलटन के मुख्या कोच के तौर पर कमान संभाली। 

अनूप कुमार हरायाना पुलिस ने कार्यरत है। उन्हें 2012 में भारत सरकार द्वारा अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया हैं।

0 Comments